मेक्सिको में भीषण भूकंप में 250 लोग मारे गए

मेक्सिको में आए 7.1 तीव्रता के भीषण भूकंप में करीब 250 लोग मारे गए हैं और इनमें 21 बच्चे शामिल हैं। ये बच्चे भूकंप के कारण ध्वस्त हुई एक स्कूल की इमारत के नीचे दबने से मारे गए हैं। इस भीषण भूकंप से मची तबाही ने वर्ष 1985 के शक्तिशाली भूकंप की काली यादों को ताजा कर दिया। वह भूकंप इस देश का अब तक का सबसे भयंकर भूकंप था। हालिया भूकंप में सबसे ज्यादा दिल दहला देने वाला दृश्य एनरीके रेब्सामेन प्राइमरी स्कूल का था। मेक्सिको सिटी के दक्षिणी हिस्से में स्थित इस स्कूल की तीन मंजिले ढह गई थीं और छात्र एवं शिक्षक इसके नीचे फंस गए थे।

बचावकर्मी स्कूल का मलबा हटाने में लगे हैं, आशंका है कि अभी करीब तीन दर्जन बच्चे मलबे के नीचे दबे हैं। मेक्सिकन नौसेना के मेजर जोस लुइस वरगारा ने कहा कि 21 बच्चे और पांच व्यस्क मारे गए हैं। मेजर जोस राहत कार्यों में समन्वय का काम कर रहे हैं। इस कार्य में सैंकड़ों सैनिक, पुलिस, असैन्य स्वयंसेवी और खोजी कुत्ते शामिल हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि 30 से 40 लोग अब भी अंदर फंसे हैं और 11 बच्चों को बचाया जा चुका है। आपातर्किमयों को मलबे के नीचे एक शिक्षक और एक छात्र जीवित मिला है और उन्हें बाहर निकालने की कोशिश की जा रही है।

मौके पर पहुंचे राष्ट्रपति एनरिक पने नाईटो ने कहा कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। उन्होंने पत्रकारों सो बात करते हुए कहा, ’30 बच्चे और आठ व्यस्क अभी भी फंसे हैं। राहत कार्य जारी है।’ वहीं शिक्षा सचिव ने कहा कि मेक्सिको सिटी में 200 स्कूलों को भूकंप से नुकसान पहुंचा है, जिसमें से 15 स्कूलों को भारी नुकसान हुआ है।

बता दें, यह भूकंप 1985 के विनाशकारी भूकंप की 32वीं बरसी पर आया है। अमेरिकी भूगर्भ सर्वेक्षण के अनुसार भूकंप की तीव्रता 7.1 थी जबकि मेक्सिको के सीस्मोलॉजिकल इंस्टीट्यूट के अनुसार भूकंप की तीव्रता 6.8 थी। संस्थान ने बताया कि भूकंप का केंद्र पड़ोसी प्यूब्ला प्रांत में चियाउतला डि तापिया से सात किलोमीटर पश्चिम में था। मैक्सिको में वर्ष 1985 में इसी तारीख को भीषण भूकंप आया था जिसमें हजारों लोग मारे गए थे। इस भूकंप से ठीक दो सप्ताह पहले देश के दक्षिण में आए एक अन्य शक्तिशाली भूकंप में 90 लोग मारे गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *