थाइलैंड की पूर्व प्रधानमंत्री को पांच साल की जेल

बैंकॉक।

थाइलैंड की एक अदालत ने पूर्व प्रधानमंत्री यिंगलक शिनवात्रा को चावल घोटाले में पांच साल जेल की सजा सुनाई है। कोर्ट का फैसला आने से पहले ही शिनवात्रा देश छोड़कर भाग गई हैं।

चावल घोटाले समेत भ्रष्टाचार के कई आरोपों में घिरी शिनवात्रा को 2014 में सैन्य तख्तापलट के जरिये सत्ता से बेदखल कर दिया गया था। शिनवात्रा हालांकि इन आरोपों को राजनीति से प्रेरित बताती रही हैं।

महत्वाकांक्षी चावल सब्सिडी योजना के जरिये ही शिनवात्रा की फ्यिू थाई पार्टी ने वर्ष 2011 के आम चुनाव में जीत हासिल की थी। सत्ता में आने के बाद उन्होंने किसानों को चावल के लिए विश्व बाजार की कीमतों के मुकाबले 50 फीसद ज्यादा भुगतान किया था।

लेकिन अन्य देशों ने प्रतिस्पर्धी मूल्यों पर चावल बेचकर बाजार पर अपना कब्जा कर लिया। इसके चलते थाइलैंड को पीछे छोड़कर वियतनाम दुनिया का सबसे बड़ा चावल निर्यातक बन गया।

अभियोजन का आरोप था कि शिनवात्रा ने किसानों के वोट पाने के लिए सब्सिडी योजना में भ्रष्टाचार को नजरअंदाज किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *