जिसने भक्ति नहीं की उसके जीवन की कली मुरझा जाती है : भगतप्रकाश

share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

 

– स्वामीजी संत मंडली के साथ संतनगर आए

– भव्य शोभा यात्रा  निकली, जगह-जगह स्वागत

हिरदाराम नगर। 7april 2018

श्री प्रेम प्रकाश मण्डलाध्यक्ष स्वामी भगतप्रकाशजी, संत मंडली मनोहरलाल, जयदेव, मनोहरलाल, लालूराम, संत रमेश प्रकाश के साथ शनिवार को संतनगर पहुंचे। बैरागढ़ बस स्टैण्ड से स्वामीजी को शोभा यात्रा के रूप में एफ वार्ड स्थित प्रेम प्रकाश आश्रम लाया गया। एफ वार्ड स्थित आश्रम में हवन के साथ ध्वजा वंदन का कार्यक्रम  हुआ। स्वामी भगत प्रकाश ने आश्रम में प्रेमियों को सत्संग की महिमा बताई।

उन्होंने कहा कि महापुरूष दुनिया में बड़े काम को आते है, मिटा के खौफ मरने का अमर आतम लखाते हैं । मनुष्य शरीर की महिमा का बखान करते हुए कहा  कि चौरासी लाख योनियाँ भोगने के पश्चात देवदुर्लभ अर्थात जिस देह के लिए देवी-देवता भी तरसते हैं क्योंकि देव देही में केवल संचित कर्मो को भोग सकते है परन्तु मनुष्य तन में पिछले कर्मो को भोगने के साथ-साथ नए कर्म भी कर सकते है, देवी-देवताओं को पुण्य क्षीण होने के पश्चात वापिस मृत्युलोक में जन्म लेना पड़ेगा।

शाम को एफ वार्ड स्थित आश्रम से एक शोभायात्रा निकाली गयी, जो शहर के प्रमुख मार्गो आश्रम से हाई स्कूल के पीछे शनि मंदिर रोड, मिनी मार्केट, मुख्य बाजार, पंजाब नेशनल बैंक रोड होते हुए साधु वासवानी स्कूल ग्राउंड पहुंची, जहां भगत प्रकाश  के द्वारा प्रवचन दिए गए। स्वामी भगत प्रकाश ने कहा कि जिसमें ब्रह्य ध्यान की महिमा बताते हुए कहा कि संसार में कोई वस्तु नहीं जिसका ध्यान करने से वो उसका रूप बन जाय परन्तु जिसने ब्रह्य  का ध्यान किया तो वो उसका ही रूप बन जाता है। साधु वासवानी ग्राउंड पर पार्षद दीपा वासवानी, भारती खटवानी, कार्यक्रम प्रवक्ता बसंत चेलानी, नरेश वासवानी, महेश खटवानी व अन्य स्वामीजी का स्वागत कर आशीर्वाद लिया।

भोपाल में सत्संग आज

आठ अप्रैल को प्रातः 8 से 10 बजे तक प्रेम प्रकाश आश्रम शाहपुरा में स्वामी भगतप्रकाश जी का सत्संग एवं भण्डारा होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *