हादसा: बीआरटीएस कॉरिडोर बना मौत का कॉरिडोर

share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

& लाल बस-एक्टिवा की भिडंत में दो की जान गई
हिरदाराम नगर।23 feb 2018

बीआरटी कॉरिडोर में लो फ्लोर बस और एक्टिवा की टक्कर में एक स्कूली छात्र समेत दो की मौत हो गई है। हादसा उस वक्त हुआ जब स्कूल जाने के पहले एक राउंड लगाने लिए दोनों तेज गति से कॉरिडोर से जा रहे थे। पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है।
बैरागढ़ थाने से मिली जानकारी के मुताबिक शुक्रवार सुबह 9:30 बजे एक्टिवा से दिनेश दुलानी उम्र17 निवासी जी वार्ड अपने ममेरे भाई वैभव कालरा उम्र14 निवासी वन ट्री हिल्स के साथ बैरागढ़ से लालघाटी की ओर जा रहा था। वैभव सुबह स्कूल के लिए एक्टिवा क्रमांक एमपी 04 पीसी 2276 लेकर निकला था। रास्ते में दिनेश के मिलने पर दोनों एक राउंड लगाने के लिए चंचल चौराहे से एक्टिवा को बीआरटी कॉरिडोर में डाल दिया। तेज रफ्तार से जा रही एक्टिवा होंडा शो रूम सामने लो फ्लोर बस क्रमांक एमपी 04 पीए 1012 से टकरा गई। टक्कर में वैभव और दिनेश के सिर में चोट आई, जिन्हे डायल 100 से हमीदिया अस्पताल पहुंचाया गया, जहां मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है। दिनेश दुलानी एक पकड़े की दुकान पर काम करता था, उसके पिता की चाय की दुकान है। वैभव सिंधु समाज स्कूल का छात्र था, जिसके पिता गोविंदपुरा ओद्यौगिक क्षेत्र में नौकरी करते हैं।
एक्सीडेंट के बाद क्षतिग्रस्त हुई एक्टिवा के डिग्गी में हेलमेट रखा हुआ दिखाई दे रहा है। इससे साफ है कि वाहन चलाते समय युवक हेलमेट नहीं लगाए हुए थे। यदि हेलमेट लगा होता तो जान बच सकती थी। मौत की खबर मिलने के बाद दोनों परिवारों में बुरा हाल है। एक्सीडेंट में मौत की खबर मिलने पर परिवार के सदस्यों का कहना था वह तो स्कूल की कहकर गया था, क्या पता था लौटकर नहीं आएगा।
मुआवजे की मांग
पूज्य सिंधी पंचायत ने एक्सीडेंट में मारे गए युवकों के परिजनों को दस-दस लाख मुआवजे की मांग की है। पंचायत महासचिव माधु चांदवानी ने कहा है कि दोनों युवक गरीब परिवार के थे। चांदवानी ने बीआरटी कॉरिडोर को टीटी नगर की तरह सिंगल डिवाइडर करने की मांग की है। उनका कहना है कि निर्माण के समय से कॉरिडोर को सिंगल डिवाइडर करने की मांग की जा रही है, लेकिन लगातार हादसों के बाद भी बदलाव नहीं किया जा रहा है। इस मांग को लेकर पंचायत का एक प्रतिनिधि मंडल जल्द ही विधायक-महापौर से मुलाकात करेगा।
मिक्स लेन पर भार
कॉरिडोर को सिक्स लेन बनाते समय सिक्स लेने करते समय चौड़ाई से समझौता किया गया है। मार्ग के दोनों और दुकानों को तोडफ़ोड़ से बचाने के लिए डेडिकेटेड लेन तो चौड़ाई के हिसाब से बनाई गई, लेकिन मिक्स लेन में हजारों वाहनों की आवाजाही के कारण लोग कॉरिडोर से वाहन निकालते हैं और हादसे का शिकार होते हैं। मिक्स लेन पर वाहनों की भार होने के साथ ही आसपास हाथ ठेलों का कब्जा रहता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *