युवा ही साकार करत सकते हैं समृद्धि-सशक्त भारत

share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

– संतनगर में युवा संवाद कार्यक्रम
भोपाल।06 feb 2018

हमारा देश, समाज और हम क्षेत्रीयवाद में न बंटें। हमारा परिचय आंचलों के रूप में न होकर एक जागरूक युवा भारतीय के रूप में हो। एक राज्य दूसरे राज्यों की संस्कृति, रहन-सहन, आचार-व्यवहार से परिचित हो तथा तकनीकी, शैक्षिक, राजनीतिक एवं आध्यात्मिक स्तर पर अपनी भारतीय संस्कृति का परिचय पूरे विश्व में पहंुचायें। यह आव्हान उत्तर पूर्व राज्यों के युवाओं के संवाद कार्यक्रम में किया गया।
संत हिरदाराम नगर के संत हिरदाराम गर्ल्स कॉलेज में ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ अभियान में मणिपुर, नागालैंड एवं मध्यप्रदेश के अंतरराज्यीय युवाओं के मध्य संवाद सत्र का आयोजन किया गया था। संत हिरदारामजी के शिष्य सिद्धभाऊ, नेहरू युवा केन्द्र के युवा समन्वयक, डॉ. सुरेन्द्र शुक्ला ने कहा युवाओं ही सशक्त भारत समृद्ध भारत की सोच का साकार करत सकते हैं। वक्ताआंे ने कहा कि भारत के विभिन्न राज्यों को एक साथ मिलकर कार्य करना तभी सरल होगा, जब एक-दूसरे की संस्कृति को समझें और आपसी तालमेल हो, इससे रचनात्मक परिणाम भी सामने आएंगे। युवाओं के बीच बेहतर साझेदारी से देश की एकता एवं अखंडता कायम रहेगी। कार्यक्रम में पत्रकार दीप्ति चौरसिया, संत कॉलेज की प्राचार्य डॉ चरनजीत कौर देश को एक परिवार की तरह चलाकर सकारात्मक ऊर्जा के प्रचार-प्रसार पर जोर दिया ।
कार्यक्रम में 26 जनवरी 2018 को दिल्ली में आयोजित गणतंत्र दिवस परेड का हिस्सा बनीं मानसी तीर्थानी एवं सोनम सिंह बघेल को सम्मानित किया गया। उन्हें शील्ड एवं उपहार दिए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *