मानव तन मिला है परोपकार में लगाएं

share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

– निरंकारी सत्संग सभा में विद्वान सुरेश बठीजा

हिरदाराम नगर। 30 jult 2017

बैरागढ़ संत्सग भवन में निरंकारी विद्वान सुरेश बठीजा ने कहा कि मानव रूपी जो ये तन मिला है उन्हें परोपकार में लगाना है हमारी कथनी और करनी में फ र्क नहीं होना चाहिए हमें अपने जीवन में मानवता के गुण अपनाते हुए प्यार नम्रता और भाईचारे वाला संदेश हर जनमानस तक पहुंचाना है ।

उन्होंने कहा कि जिनको सत्संग प्राप्त होता है उनके जीवन में गुरु का आगमन हो जाता है गुरु की शरण में आने से माथे की लकीरें बदल जाती हैं। घरों में खुशहाली ही खुशहाली छा जाती है क्योंकि हमारा दामन गुरू पकड़ के बैठा है, सत्संग में आने से दु:ख तकलीफ परेशानियसं सब खत्म हो जाती हैं। सत्संग में पार्षद बहन भारती खटवानी, गणमान्य नागरिक प्रचार यात्रा में शामिल महात्मा रोहित मूलचंदानी, महात्मा शिवनारायण साहू प्रमुख रूप से शामिल हुए। भोपाल, महू, सीहोर, नसरूल्लागंज एवं आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से श्रद्धालुओं ने भी सत्संग सभा में हिस्सा लिया।

आभार ब्रांच संयोजक महेष वीधानी व्दारा किया गया । संचालक अशोक नाथानी, विजय कृपलानी , कन्हैयालाल साधवानी, पुरूषोतम मूलानी, राकेश लालवानी, विजय नाथानी एवं लक्ष्मणदास नाथानी व्दारा की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *