राष्ट्रीय एकता का प्रतीक है चालीहा साहब

हिरदाराम नगर। 16 जुलाई 2018

झूलेलाल चालीहा साहब मंदिर समिति संत हिरदाराम नगर के तत्वावधान में चालीहा साहब का शुभारंभ सिंधी हास्य एवं गायक परमानंद प्यासी ने किया। प्यासी ने कहा कि चालीहा साहब कठोर तपस्या है, जो राष्ट्रीय एकता की प्रेरणा देते हैं । प्यासी ने लोकगीत, संगीत एवं नृत्य के साथ देश भक्ति गीतों से अवसर को उत्सवी बनाया।

मंदिर समिति के मुख्य संरक्षक साबू रीझवानी ने चालीहा साहब को व्रत साधना के साथ मातृभाषा के उत्थान में यादगार बताया । मध्यप्रदेश सिंधी साहित्य अकादमी के निदेशक राजेन्द्र प्रेमचंदानी ने चालीहा साहब को मनोकामना पूर्ण करने वाला व्रत बताया। कार्यक्रम में भाजपा के जिला उपाध्यक्ष राम बंसल, मण्डल अध्यक्ष चन्द्रप्रकाश इसरानी, पार्षद भारती खटवानी, अशोक मारण, त्रिलोकचंद दीपानी, वासदेव वाधवानी, शिक्षाविद विष्णु गेहानी, रमेश सुखरामानी, जयकिशन लालचंदानी, इन्द्रदास मंघानी, घनश्याम आदि ने मंच की आदि शामिल हुए।
इस अवसर पर मंदिर के संरक्षक गुलाब जेठानी, साबू रीझवानी, राजेश बेलानी, मोहन मनवानी, माधवदास पारदासानी, चन्द्रभान रीझवानी, ने मिलकर श्री परमानंद प्यासी का शाल श्रीफल एवं यादगार मोमेंटों प्रदान कर सम्मान किया । कार्यक्रम का संचालन पंचायत महासचिव श्री माधु चांदवानी ने किया । कार्यक्रम के अंत में महाआरती के साथ देश के विकास, भरपूर बारिश तथा सुख शांति हेतु सामूहिक प्रार्थना की गई । अंत में आभार समिति के संरक्षक श्री गुलाब जेठानी ने व्यक्त किया ।

खुशहाली की कामना के लिए पल्लव

पूज्य झूलेलाल चालीहा उत्सव समिति ने चालीहा साहब उत्सव मेला झूलेलाल मंदिर एच वार्ड में आयोजित किया। कार्यक्रम के शुभारंभ में वरूणदेव भगवान झूलेलाल के बहिराणा साहब की ज्योति प्रज्वलित कर भजन, कीर्तन, छेज, डांडिया नृत्य, सुखो सेसा का आयोजन रखा गया है । इसके उपरांत भगवान झूलेलाल बहिराणा साहब की ज्योति शीतलदास की बगिया कमला पार्क घाट पर देश की एकता, अखण्डता, खुशहाली के लिये भगवान वरूणदेव की पूजा अर्चना कर बहिराणा साहब की ज्योति विर्सजन की गई । कार्यक्रम में सांई सुल्तानपुर वाले सांई लख्मीगिर साहब एवं सांई बंटीगिर ने प्रवचन दिये । अवसर पर समिति अध्यक्ष पुरूषोत्मत हरचंदानी, मुरलीधर हरचंदानी, खीमन यू मूलानी, रमेश कुमार हिमथानी, नारीमल तोलानी, मोहनलाल हरचंदानी, रामचंद बालचंदानी, राकेश लालवानी, शोभराजमल हरचंदानी, श्रीमती लता हरचंदानी, अंजली हरचंदानी, सरस्वती प्रीतवानी, आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *