भोपाल. 22 मई 2018

शिवराज सरकार ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, सहायिकाओं और पेंशनरों को बड़ी सौगात दी। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं के मानदेय में जहां दुगनी बढ़ोतरी की गई वहीं प्रदेश के सवा 4 लाख से ज्यादा पेंशनरों को भी सातवें वेतनमान का लाभ देने का निर्णय लिया है। केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना को मध्यप्रदेश में लागू करने को कैबिनेट ने मंजूरी दी है।

कैबिनेट में हुए फैसलों की जानकारी देते हुए जनसंपर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि सरकार ने पेंशनरों को सौगात देते हुए एक जनवरी 2016 से सातवां वेतनमान देने के प्रस्ताव को को मंजूरी दी। सरकार के इस फैसले से प्रदेश के सवा 4 लाख से ज्यादा पेंशनरों को लाभ मिलेगा। हालांकि पेंशनरों को 1 जनवरी से 2016 से 31 मार्च 2018 तक बढ़ी हुई पेंशन का एरियर दिए जाएगा या नहींं इस बारे में फैसला नहीं हुआ।

कैबिनेट बैठक में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओंं, आंगनबाड़ी सहायिकाओं और उप सहायिकाओं का वेतन दुगना करने का भी फैसला हुआ। इसका लाभ इसी महीने के वेतन से मिलेगा। इस फैसले के बाद आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय 5 हजार से बढ़कर 10 हजार और आंगनबाड़ी सहायिका को ढाई हजार से बढ़कर 5 हजार हो जाएगा। शिवराज कैबिनेट ने केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना को प्रदेश में लागू करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी। इससे प्रदेश के करीब डेढ़ करोड़ परिवारों को लाभ मिलेगा। इन परिवारों में प्रदेश में करीब 84 लाख गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार शामिल हैं।

जनकल्याण योजना 13 जून से

इसके अलावा कैबिनेट ने मुख्यमंत्री एमपी जनकल्याण योजना शुरू करने को भी मंजूरी दी। प्रदेश में 13 जून को इस योजना का शुभारंभ होगा। इसके तहत पूरे प्रदेश में ब्लॉक और नगरीय क्षेत्रों में कार्यक्रम होंगे। इनमें एक जगह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और शेष जगहों पर प्रदेश के मंत्री भाग लेंगे।

  • अन्य फैसलें
  • कर्मचारियों से जुड़े मामलों का अगली कैबिनेट बैठक में एक साथ निपटारा होगा
  • अंत्योदय मेले को जारी रखा जाएगा
  • प्रसूति योजना के तहत गर्भवती महिला को 4 हजार व बच्चा होने के बाद 12 हजार रुपए मिलेंगे
  • बीडीसी न्यूज