प्रदेश का बजट जनकल्याण का बजट : मुख्यमंत्री

share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

बजट में सभी वर्गों के कल्याण का रखा गया ध्यान

भोपाल : बुधवार, फरवरी 28, 2018

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के बजट को ऐतिहासिक और जनता के कल्याण का बजट बताया है। उन्होंने कहा है कि यह बजट सभी वर्गों के कल्याण को ध्यान में रखते हुये, विशेषकर महिला सशक्तिकरण, रोजगार, किसान, गरीब, नौजवान और बच्चों का बजट है। पहली बार बजट दो लाख करोड़ रूपये से अधिक की राशि पार कर गया है। श्री चौहान आज प्रदेश के विधानसभा में प्रस्तुत बजट पर मीडिया के साथ चर्चा कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के बजट में अधोसंरचना विशेषकर सिंचाई और कृषि के लिये किये गये कार्य राज्य की समृद्धि के आधार हैं। कृषि एवं कृषि सम्बद्ध कार्यों के लिए 37 हजार 498 और ऊर्जा के लिये 17 हजार करोड़ का प्रावधान किया गया है। इससे विकास की दर बढ़ती है। प्रति व्यक्ति आय में वृद्धि होती है। अंतत: प्रदेश समृद्ध होता है। किसानों को फसल के बाजार मूल्य में गिरावट से सुरक्षा प्रदान करने के लिये मुख्यमंत्री भावांतर योजना के लिए 650 करोड़ का प्रावधान किया गया है। प्याज को भावांतर में शामिल किया है। बजट में गरीब कल्याण के संकल्प के अंतर्गत रोटी, कपड़ा, मकान, पढ़ाई, लिखाई दवाई के पर्याप्त प्रबंध किए गए हैं। मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना के लिए पर्याप्त राशि का प्रावधान है। अनुसूचित जाति, जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक वर्ग के लिए छात्रावास, छात्रवृत्ति के प्रावधान है। उन्होंने बताया कि डिफाल्टर होने के कारण जो किसान जीरो प्रतिशत ब्याज पर ऋण नहीं ले पा रहे थे, उनके लिए मुख्यमंत्री ऋण समाधान योजना लागू की गई है। योजना में ब्याज की राशि सरकार द्वारा भरी जाएगी। मूलधन का भुगतान किसान किश्तों में अदा कर सकेंगे। जीरो प्रतिशत ब्याज पर ऋण भी ले सकेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण विकास के लिये 18 हजार 165 करोड़ रूपये का प्रावधान वरदान से कम नहीं है। विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत ग्रामीण सड़कों का जाल बिछेगा। यह प्रत्येक गांव को सड़कों से जोड़ने का प्रयास है। नगरीय विकास के लिये 11 हजार 932 करोड़ रूपये का प्रावधान है। सूखे के संकट में पेयजल उपलब्धता के लिये समूह पेयजल योजनाओं का कार्य प्रशंसनीय है। मुख्यमंत्री युवा सशक्तिकरण मिशन अंतर्गत रोजगार सृजन के प्रयासों में 7.5 लाख युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने और 7.5 लाख युवाओं का कौशल उन्नयन करने के लिये तकनीकी शिक्षा के लिये पर्याप्त प्रावधान किये गये हैं। उन्होंने बताया कि ग्रामीण अंचल में शासकीय स्वास्थ सेवाओं के साथ निजी क्षेत्र को प्रोत्साहित करने के लिये लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण अंतर्गत नई योजना लागू की गई है। निजी क्षेत्र को स्वास्थ के क्षेत्र में निवेश पर ग्रामीण क्षेत्र में 40 और अनुसूचित जनजाति क्षेत्र में 50 प्रतिशत कैपिटल सब्सिडी दी जायेगी। बजट में कर्मचारी कल्याण के लिए प्रभावी कदम उठाए गए हैं।

गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने वाला बजट

उच्च शिक्षा मंत्री श्री जयभान सिंह पवैया ने बजट को युवाओं को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और रोजगार के अवसर देने वाला बजट बताया है। श्री पवैया ने कहा है कि बजट में उच्च शिक्षा में सुधार के लिये पर्याप्त बजट का प्रावधान किया गया है। इससे प्रदेश के युवाओं को बेहतर शिक्षा के साथ रोजगार के अवसर मिल सकेंगे। श्री पवैया ने कहा कि बजट में उच्च शिक्षा के लिये 2245 करोड़ का प्रावधान कर सरकार ने सिद्ध किया है कि युवाओं के बेहतरी के प्रयास जारी हैं।

गरीब और कमजोर वर्ग का  बजट

जनजातीय कार्य एवं अनुसूचित-जाति कल्याण राज्य मंत्री श्री लाल सिंह आर्य ने विधानसभा में प्रस्तुत वर्ष 2018-19 के बजट को अनुकरणीय बताया है। उन्होंने बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि यह बजट गरीब और कमजोर वर्गों के कल्याण के लिये नये आयाम स्थापित करेगा। उन्होंने कहा कि बजट में जनजातीय कार्य विभाग के लिये 6861 करोड़ रुपये और अनुसूचित-जाति कल्याण विभाग के लिये 1278 करोड़ रुपये की राशि का प्रावधान कमजोर वर्गों को समानता का दर्जा दिलाने में सहायक होगा।

विकास सुनिश्चित करेगा बजट

गृह एवं परिवहन मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा है कि मध्यप्रदेश का बजट प्रदेश के चहुँमुखी विकास और सभी वर्गों के हित में बनाया गया बजट है। यह बजट प्रदेश का चहुँमुखी विकास सुनिश्चित करेगा।

घोषणावीर का बजट


भोपाल। कांग्रेस ने बजट को जनविरोधी बताया है। कांग्रेस नेताओं का कहना है कि बीते साल का कापी, कट और पेस्ट है सरकार का बजट। केवल आंकड़ों की बाजीगरी की गई है। इसमें न तो गराबों का कहना रखा गया है, ना युवाओं का। रोजगार का लेकर सरकार का रवैया निराशजनक है। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कहा कि इस तरह के बजट से शिवराज सरकार का छलावा करती रही है। विधायक आरिफ अकील ने कहा है कि घोषणावीर मुख्यमंत्री का बजट है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *