कुनबां विस्तारः शिवराज ने खेला ओबीसी कार्ड

share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

भोपाल 03 फरवरी विशेष संवाददाता
चुनावी साल में शिवराज सिंह चैहान एक बार और मंत्रिमंडल का विस्तार करेंगे, शनिवार को तीन मंत्रियों को शपथ दिलाने के बाद सीएम को दुबारा विस्तार के लिए मजबूर कांग्रेस ने किया है। कैबिनेट विस्तार के खबरों के बीच शुक्रवार को कांग्रेस ने भोपाल से दिल्ली तक कोलारस और मुंगावली उपचुनाव का मामला उठाया था, जिसके बाद चुनाव वाले इलाके के नेता को मंत्रिमंडल में शामिल करना टाल दिया गया। मौजूदा विस्तार में ओबीसी वोट बैंक को साधने की कोशिश की गई है। नए तीनों मंत्री इस वर्ग से आते हैं।
शिवराज कुनबे का विस्तार शनिवार को हुआ। मंत्रिमंडल में एक कैबिनेट और दो राज्य मंत्री शामिल किए गए हैं। राजभवन में आयोजित एक सादे समारोह में राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने ग्वालियर दक्षिण से विधायक नारायण सिंह कुशवाह को कैबिनेट मंत्री की शपथ दिलाई। वहीं नरसिंहपुर से विधायक जालम सिंह पटेल और खरगोन विधायक बालकृष्ण पाटीदार को राज्य मंत्री बनाया है। पहले तीनों मंत्रियों को राज्य मंत्री बनाए जाने की चर्चा थी। सुबह नारायण कुशवाह को कैबिनेट मंत्री बनाए जाने का फैसला लिया गया। कुशवाह पहले भी मंत्री रह चुके हैं। शपथ ग्रहण समारोह में विधानसभा अध्यक्ष सीतासरन शर्मा, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चैहान, संगठन महामंत्री सुहास भगत समेत कई मंत्री मौजूद थे।
एक विस्तार और होगा
शपथ ग्रहण के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने कहा कि अभी एक और छोटा मंत्रिमंडल विस्तार करेंगे। माना जा रहा है कि बजट सत्र के बाद दो से तीन मंत्रियों को शामिल किया जा सकता है। अगले मंत्रिमंडल विस्तार में क्षेत्रीय असंतुलन को ठीक करने की कोशिश होगी।
कैबिनेट में इंदौर से किसी विधायक को शामिल न किए जाने के सवाल कैलाश विजयवर्गीय ने कहा व्यंग्यात्मक लहजे मंे कहा कि इंदौर के नायक और महानायक शिवराज सिंह चैहान ही हैं, इसलिए इंदौर के प्रतिनिधित्व की जरूरत नहीं है।
तीनों मंत्रियों ने कहा है कि शिवराज सिंह चैहान ने जो उन पर विश्वास जताया है, उस पर वह खरे उतरेंगे।
पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चैहान, सरकार के प्रवक्ता डाॅ नरोत्तम मिश्रा, लोक निर्माण मंत्री रामपाल सिंह ने कहा कि मंत्री में नए साथी बढ़ने से सरकार के काम काज में और तेजी आएगी।
विरोध करना आदत है
कैबिनेट विस्तार को लेकर कांग्रेस के विरोध पर सीएम ने कहा है कि कांग्रेस की तो हर बात में विरोध की आदत हो गई है। कैबिनेट विस्तार का मामला पूरी तरह से सीएम से जुड़ा है, वह कभी भी विस्तार कर सकते हैं।
कांग्रेस ने क्यों किया विरोध
कांग्रेस ने शिवराज कैबिनेट में जाति समीकरण साधकर कोलारस और मंुगावली उपचुनाव के परिणाम को प्रभावित करने की बात कहते हुए। भोपाल में राज्य निर्वाचन आयोग और दिल्ली में चुनाव आयुक्त से शिकायत की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *