प्रदेश के सभी निकाय खुले में शौच मुक्त घोषित

share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

भोपाल 08 oct 2017
मध्य प्रदेश के 361 नगरीय निकायों को क्वॉलिटी काउंसिल ऑफ इंडिया (क्यूसीआई) द्वारा स्वच्छता के निर्धारित मापदंडों को पूरा करने पर खुले में शौच मुक्त प्रमाणित किया गया है। इस तरह राज्य के सभी 378 नगरीय निकाय को खुले में शौच मुक्त घोषित कर दिया गया है।

आधिकारिक तौर पर रविवार को दी गई जानकारी के अनुसार वर्ष 2011 की जनगणना के मुताबिक लगभग 7,31,000 से अधिक परिवारों को शौचालय विहीन चिन्हित किया गया था। सभी नगरीय क्षेत्रों में सर्वे कराकर 6,18,000 व्यक्तिगत शौचालय स्वीकृत किए गए। अब तक लगभग 4,80,000 शौचालय निर्मित कराए जा चुके हैं। इस वित्त वर्ष में लगभग दो लाख शौचालय निर्माण का लक्ष्य है।

उल्लेखनीय है कि शहरी स्वच्छ भारत मिशन की लक्ष्य पूर्ति में व्यक्तिगत शौचालय के लिए 39 हजार 200 रुपये प्रति सीट, ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए 35 प्रतिशत और सूचना शिक्षा संप्रेषण के लिए 15 प्रतिशत राशि केंद्र सरकार द्वारा दी जा रही है। बताया गया है कि प्रदेश के सभी 378 नगरीय निकायों के 26 समूह गठित कर एकीकृत ठोस अपशिष्ट प्रबंधन योजना को जन-भागीदारी से किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *