नर्मदा तट साक्षी बन रहा हरियाली के उत्सव का

share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn
  • मां नर्मदा की आरती कर सीएम ने की अभियान की शुरूआत

  • रूद्रराक्ष का पौधा रोपकर शुरू हुआ अभियान

  • गिनीज विश्व बुक में अभियान होगा दर्ज

भोपाल. 02 जुलाई 2017 नर्मदा तट से
मध्यप्रदेश पर्यावरण और नर्मदा नदी को बचाने के महा अभियान का साक्षी बन रहा है.. प्रदेश में एक दिन में एक साथ 6 करोड़ 67 लाख 50 हजार पौधे लगाने का अभियान चल रहा है। नर्मदा कछार के 24 जिलों में लगभग 2 दर्जन से ज्यादा किस्म के पौधे लगाये जा रहे है।। इनमें फलदार और छायादार किस्मों में आम, आँवला, नीम, पीपल, बरगद, महुआ, जामुन, खमेर, शीशम, कदम, बेल, अर्जुन, बबूल, बाँस, इमली, गूलर, खेर तथा कृषि वानिकी के अमरूद, संतरा, नींबू, कटहल, सीताफल, अनार, अचार, चीकू, बेर, मुनगा के पौधे हैं, गिनीज विश्व रिकार्ड में नाम दर्ज का भी यह अभियान है।
पौधारोपण अभियान शुरूआत प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रूद्रराक्ष का पौधा रोप कर की। सीएम ने अमरकंटक में मां नर्मदा की आरती उतारकर अभियान की सफलता आशीर्वाद लिया था।मध्यप्रदेश पूरी दुनिया से कहना चाहता है कि धरती का तापमान बढ़ रहा है दुनिया करे या ना करे मध्यप्रदेश अपनी जिम्मेदारियों का जरूर निर्वहन करेगा। आज प्रदेश की जो भी जनता पेड़ लगा रही है वो दुनिया बचाने का कार्य कर रही है। अमरकंटक से बड़वानी तक और पूरे प्रदेश की जनता को आभार और हर प्रणाम करता हूं। इसके साथ ही उन्‍होंने घोषणा की आज से सभी सरकारी कार्यक्रमो की शुरुवात पेड़ लगाने से होगी उसके बाद कन्या पूजन होगा।
पीएम के साथ पौधारोपण कार्यक्रम में सीएम के साथ उनकी पत्नी साधना सिंह, मंत्री गौरी शंकर शेजवार और प्रभारी मंत्री संजय पाठक के अलावा कांग्रेसी विधायक फुन्दे लाल भी मौजूद रहे।प्रत्येक रोपण स्थल में रोपित किये गये पौधों के सत्यापन के लिये शासकीय अधिकारियों-कर्मचारियों को तैनात हैं रोपित पौधों की फोटोग्राफी एवं वीडियोग्राफी की जा रही है। जीपीएस (लेटीटयूट एवं लांगीटयूट) रीडिंग की जा रही है।

नर्मदा कैचमेन्ट के 24 जिलों में 667 लाख 50 हजार पौधे लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इनमें से अनुपपूर जिले में 10.50 लाख पौधे, डिण्डौरी में 33 लाख, मण्डला में 50 लाख, जबलपुर में 42 लाख, कटनी में 6 लाख, इन्दौर में 15 लाख, धार में 37 लाख, अलीराजपुर में 30 लाख, देवास में 45 लाख, सीहोर में 25 लाख, रायसेन में 35 लाख, होशंगाबाद में 55 लाख, हरदा में 46.50 लाख, बैतूल में 25 लाख, छिन्दवाड़ा में 16 लाख, सिवनी में 30 लाख, नरसिंहपुर में 50 लाख, खण्डवा में 35 लाख, बुरहानपुर में एक लाख, खरगोन में 48 लाख, बड़वानी में 25 लाख, दमोह में 2 लाख, सागर में 2 लाख और बालाघाट जिले में 3.50 लाख पौधे लगाये जाने हैं।
अभियान में ग्रामीण विकास, कृषि, उद्यानिकी, जन-अभियान परिषद, नगरीय प्रशासन, स्कूल शिक्षा विभाग हिस्सा ले रहे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *