पीएम ध्यान दें, किसान मर रहे हैं शिवराज कर रहे ब्रांडिंग

– नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने पौधारोपण पर अनावश्यक खर्चे का उठाया सवाल
भोपाल. 1 जुलाई 2017 बीडीसी न्यूज
नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से प्रदेश किसानों के हालात और सरकार को मिले कृषि कर्मण अवार्ड की जांच का आग्रह किया है। किसानों के आंदोलन ने अवार्ड पर सवालिया निशाना लगा दिया है, ऐसा लगता है सरकार के अति प्रचार ने अवार्ड तक पहुंचाया है। अजय सिंह ने पौधारोपण का रिकॉर्ड बनाने के लिए पौधों के अलावा पौने तीन सौ करोड़ खर्च करने की बात भी कही है।
मीडिया से मुखातिब होते हुए अजय सिंह ने कहा प्रदेश में किसान बदहाल है… 24 दिन में 53 किसान आत्महत्या कर चुके हैं। सरकार हताशा से भरी हुई है, किसानों की मदद करने की वजाए पौधारोपण अभियान को गिनीज बुक में दर्ज कराने के लिए पौने तीन सौ रूपये खर्च किए जा रहे हैं। किसानों को छोड़ पूरा प्रशासन दो जुलाई के पौधारोपण अभियान में लगा है। मंदसौर गोली कांड भुला दिया गया है। किसान और खेती के हालातों को देखते हुए कृषि कर्मण अवार्ड पांच साल कैसे मिल रहा है इसकी भी जांच होनी चाहिए। नेता प्रतिपक्ष ने पीएम नरेन्द्र मोदी के सामने यह सब मुद्दे उठाते हुए जांच की मांग की है। साथ ही सरदार सरोवर बांध विस्थापितों का पूरा पुनर्वास न होने तक गेट न बंद करने के निर्देश प्रदेश सरकार को देने को कहा है ।
खुद की ब्रांडिंग
अजय सिंह ने कहा है कि बीते 12 सालों से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपनी ब्रांडिंग के प्रचार प्रसार के अवसरों की तलाश करने में लगे हुए हैं। प्रदेश में जुलाई में पौधारोपण होना प्रदेश की परंपरा रही है, इस बार उसका मेगा प्रदर्शन किया जा रहा है, पूरे प्रदेश में प्रचार प्रसार पर साढे तीन सौ करोड़ फूंके जा रहे हैं ।
2014 के रिकॉड का जवाब दें
नेता प्रतिपक्ष ने 12 साल में लगाए गए 50 करोड़ के पौधों का हिसाब शिवराज सिंह से मांगा है । मुख्यमंत्री से यह भी पूछा है 2014 में और उसके पहले शहडोल में पौधारोपण का गिनीज बुक में रिकॉर्ड बनाया था, वह पौधे कहा है, उस समय भी 61 करोड़ रूपये खर्च किए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *