तीन लाख से अधिक मतदान कर्मी कराएंगे वोटिंग

– तीन हजार से अधिक मतदान केन्द्रों की जिम्मेदारी महिलाओं को
भोपाल नवंबर 26 नवंबर 2018
प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों के लिए 20 नवंबर को होने वाले मतदान की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। 65 हजार 367 व 26 सहायक मतदान केन्द्रों पर मताधिकार का प्रयोग करेंगे। चुनाव 3 लाख 782 मतदान कर्मी लगाए गए हैं। इसमें 2 लाख 54 हजार 878 पुरूष तथा 45 हजार 904 महिला कर्मी हैं। तीन हजार 46 मतदान केन्द्र महिला कर्मियों के हवाले रहेंगे। 160 पीडब्ल्यूडी बूथों पर दिव्यांग कर्मचारी मतदान कराएंगे। चुनाव के लिये 12 हजार 363 माईक्रो आब्जर्वर की तैनाती मतदान केन्द्रों पर की गई है, जिसमें 12 हजार 211 पुरूष एवं 152 महिला माईक्रो आब्जर्वर हैं।
निविदत्त-मतपत्र की सुविधा
भारत निर्वाचन आयोग ने निर्देश दिये हैं कि यदि मतदाता को मतदान केन्द्र में जाने पर पता चलता है कि उसका मत डाला जा चुका है, तो पीठासीन अधिकारी पहचान संबंधी प्रश्नों का संतोषजनक उत्तर पाने के बाद उस मतदाता को निविदत्त मतपत्र प्रदान करेगा। यह मतपत्र उसी डिजाइन का होगा जैसा कि EVM में लगाया गया है। इस मतपत्र पर ऐरोक्रॉस मार्क सील से मतदाता अपना मतांकन कर पीठासीन अधिकारी को देगा। पीठासीन अधिकारी दिये गये लिफाफे को सील बंद कर संग्रहण केन्द्र में जमा करेगा। समस्त पीठासीन अधिकारियों को आयोग द्वारा 20 निविदत्त मतपत्र उपलब्ध कराये गये हैं।
पर्ची से वोट की पुष्टि होगी
मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2018 में सभी मतदान केन्द्रों पर ई.व्ही.एम के साथ व्ही.व्ही.पैट का उपयोग होगा। ई.व्ही.एम में मतदाता द्वारा पसंद के प्रत्याशी के सामने का बटन दबाने के बाद व्ही.व्ही.पैट में सात सेकेण्ड के लिये पर्ची प्रदर्शित होगी, जिस पर अभ्यर्थी का नाम, क्रमांक और चुनाव चिन्ह अंकित रहेगा, जिससे मतदाता यह पुष्टि कर सकेगा कि जिस प्रत्याशी को वोट दिया है वह वोट उसी को गया है। व्ही.व्ही.पैट में बने ड्राप बॉक्स में पर्ची कट कर गिर जायेगी, एक बीप की आवाज सुनाई देगी और मत रिकार्ड हो जायेगा।
53 हजार से अधिक वारंट तामिल
आदर्श आचरण संहिता लगने के बाद प्रदेश में 6 अक्टूबर से 25 नवम्बर 2018 तक कानून एवं सुरक्षा व्यवस्था के लिये 1 लाख 79 हजार 710 लोगों पर प्रतिबन्धात्मक कार्यवाही की गई है। इस दौरान 53 हजार 545 गैर जमानती वारंट तामील करवाये गये हैं। साथ ही 4 हजार 985 अवैध हथियार जप्त किये गये हैं और 2 लाख 61 हजार 667 शस्त्र थानों में जमा कराये गये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *