एमवाय अस्पताल प्री मैच्योर थे बच्चे जिनकी मौत हुई

– चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने किया दौरा, आक्सीजन बंद होने से किया इनकार

इंदौर 24 जून 2017
एम वाॅय अस्पताल आक्सीजन बंद होने से मौतों के मामले में सरकार ने जांच का ऐलान किया है, लेकिन राज्य चिकित्सा शिक्षा मंत्री शरद जैन का कहना है जो भी दुर्घटना हुई है, वह एक भावनात्मक विषय है। घटना की जाँच करवायी जा रही है। अभी प्रथमदृष्ट्या, जो बात सामने आई है वह यह कि मृतक बच्चे प्री-मैच्योर थे और उनकी हालत पहले से ही बहुत नाजुक थी।
चिकित्सा शिक्षा राज्य मंत्री शरद जैन ने आज इंदौर के एम.वाय. अस्पताल का निरीक्षण किया। जैन ने बच्चा वार्ड, सर्जिकल वार्ड, जनरल वार्ड, हड्डी रोग वार्ड, एनेस्थेसिया कक्ष और गैस पाइप लाइन सिस्टम का निरीक्षण कर वरिष्ठ चिकित्सकों से जानकारी ली। बच्चों की मृत्यु की सघन जाँच की जायेगी। जाँच समिति में प्रशासनिक अधिकारी और विशेषज्ञ चिकित्सक शामिल हैं।
राज्य मंत्री श्री जैन ने बताया कि प्रदेश में चिकित्सा सुविधाओं का तेजी से विस्तार हो रहा है। अब एम.वाय. अस्पताल में एमआरआई और कीमोथेरेपी भी होने लगी है। अगले तीन माह में बोनमेरो ट्रांसप्लांट की सुविधा भी शुरू हो जायेगी। इस सुविधा के प्रशिक्षण के लिये दो चिकित्सक को विदेश भेजा जायेगा। अस्पताल में स्टॉफ और अन्य सुविधाओं का विस्तार किया जायेगा।
इस दौरान विधायक महेन्द्र हार्डिया, सुदर्शन गुप्ता, सुश्री उषा ठाकुर और अस्पताल अधीक्षक डॉ. वी.एस. पाल मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *