यूपी : सपा, बसपा और सीबीआई छापे

नई दिल्ली 06 जनवरी 2018
लोकसभा चुनाव के लिए यूपी में एसपी-बीएसपी का गठबंधन में कांग्रेस को जगह मिलेगी या नहीं इस सस्पेंस बना हुआ है। कांग्रेस अवैध खनन मामले में सीबीआई में घिरे समाजवादी पाटी के प्रदेशाध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ खड़ी हुई है। कांग्रेस ने अखिलेश का बचाव किया है। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल और यूपी कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने अखिलेश का बचाव किया।

रविवार को अवैध खनन मामले में सीबीआई के छापों को एसपी-बीएसपी के बीच हुए गठबंधन से जोड़ते हुए कपिल सिब्बल ने कहा कि जो भी सरकार के खिलाफ आवाज उठाता है, उसके खिलाफ छापे पड़ने लगते हैं। ‘अब जब एसपी-बीएसपी के गठबंधन की खबरें आ रही हैं तो अखिलेश के खिलाफ छापे शुरू हो गए हैं। बीजेपी ने कहा है कि सीबीआई छापों का गठबंधन से कुछ भी लेना देना नहीं है। यूपी के डेप्युटी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि जांच एजेंसियां दोषियों पर कार्रवाई करती रहेंगी, चुनाव से पहले उनका काम बंद थोड़े न हो जाता है।

यूपी में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के बीच गठबंधन पूरा हो चुका है, केवल औपचारिक ऐलान होना बाकी है। छापों पर अखिलेश ने प्रतिक्रिया देेते हुए कहा, कितनी सीटों पर गठबंधन होगा, यह सीबीआई तय करेगी! कांग्रेस ने भले ही अखिलेश का बचाव किया हो, लेकिन अखिलेश ने कहा कि पहले कांग्रेस ने सीबीआई से मिलने का मौका दिया था अब भाजपा दे रही है।

हाई कोर्ट के आदेश पर

अवैध खनन की जांच

गौरतलब है कि यूपी की पूर्ववर्ती एसपी सरकार के शासनकाल में वर्ष 2012 से 2016 के बीच राज्य में अवैध खनन मामले में सीबीआई ने शनिवार को लखनऊ में आईएएस अधिकारी बी. चंद्रकला के घर पर छापा मारा था। सीबीआई ने बुंदेलखण्ड में अवैध खनन के मामले में इलाहाबाद हाई कोर्ट के आदेश पर चंद्रकला समेत 11 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया है। वर्ष 2012-13 में खनन विभाग तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के पास था। ऐसे में सीबीआई उनसे भी पूछताछ कर सकती है। दरअसल, इलाहाबाद हाई कोर्ट ने 28 जुलाई 2016 को सीबीआई को यह आदेश दिया कि वह सूबे में अवैध खनन की जांच करे। हाई कोर्ट ने सीबीआई को यूपी के 5 जिलों- शामली, हमीरपुर, फतेहपुर, देवरिया और सिद्धार्थ नगर में अवैध रेत खनन के आरोपों की जांच करने को कहा है।

मीडिया रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *