यूएन अवार्ड : मोदी चैंपियन ऑफ द अर्थ

नई दिल्ली 03 अक्टूबर 2018

PM Modi receives UN’s top environmental honour ‘Champions of The Earth’

दिल्ली के प्रवासी भारतीय केंद्र में एक समारोह में संयुक्त राष्ट्र के प्रतिष्ठित और सर्वोच्च पर्यावरण पुरस्कार चैंपियन ऑफ द अर्थ से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को नवाजा गया। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुतरेस ने पीएम मोदी को अवॉर्ड दिया। इस अवसर पर मोदी ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण की दिशा में भारत काम कर रहा है और पूरी तरह से प्रतिबद्ध है।

मोदी ने कहा कि ‘यह सम्मान पर्यावरण के संबंध में भारत की सवा सौ करोड़ जनता की प्रतिबद्धता का सम्मान है। भारत की नित नूतन और पुरातन संस्कृति का सम्मान है, जिसने प्रकृति में परमात्मा को देखा है।….यह जंगलों में रह रहे उन आदिवासी भाइयों का सम्मान है, जो जीवन से ज्यादा जंगल से प्यार करते हैं। यह मछुआरों का सम्मान है जो समंदर से इतना ही लेते हैं, जितना अर्थोपार्जन के लिए जरूरी है। वे स्कूल कॉलेज में नहीं गए होंगे, लेकिन वे मछलियों के प्रजनन के समय अपने काम को रोक लेते हैं। यह भारत के उन करोड़ों किसानों का सम्मान है जिनके लिए ऋतुचक्र ही जीवनचक्र है। यह उस महान भारतीय नारी का सम्मान है, जिसके लिए रीयूज और रीसाइकल रोजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा है। जो चींटी को भी अन्न देना पुण्य मानती है। यह भारत में प्रकृति और पर्यावरण की रक्षा के लिए समर्पित अनाम भारतीयों का सम्मान है।’

दोहरे सम्मान का मौका
पीएम मोदी ने कहा कि यह भारत के लिए दोहरे सम्मान का मौका है क्योंकि कोच्चि एयरपोर्ट को भी सस्टेनेबल एनर्जी के लिए सम्मान मिला है। क्लाइमेट (जलवायु) और कैलामिटी (आपदा) के सीधे रिश्ते का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘मैं पर्यावरण और प्रकृति को लेकर भारतीय दर्शन की बात इसलिए करता हूं क्योंकि क्लाइमेट और कैलामिटी का सीधा रिश्ता है। क्लाइमेट जबतक कल्चर का हिस्सा नहीं होगा, तबतक कैलामिटी से बचना मुश्किल है।’

  • मीडिया रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *