पाकिस्तान नहीं टेरिस्तान कहिएःभारत

share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

जिनीवा
यूएन में लगातार कश्मीर का राग अलाप रहे पाकिस्तान पर भारत ने जबरदस्त पलटवार किया है। राइट टु रिप्लाई के तहत दिए गए जवाब में भारत ने पाकिस्तान को ‘टेररिस्तान’ करार दिया। बता दें कि इससे पहले पाकिस्तान के पीएम शाहिद अब्बासी ने यूनाइटेड नेशंस जनरल असेंबली में यूएन से कश्मीर में एक विशेष दूत तैनात करने की मांग की थी। उन्होंने आरोप लगाया था कि कश्मीर में लोगों के संघर्ष को भारत द्वारा कुचला जा रहा है। अब्बासी ने भारत पर पाकिस्तान में आतंकी गतिविधियां चलाने का आरोप भी लगाया था।

भारत की ओर से जवाब देने के लिए राजनयिक एनम गंभीर ने मोर्चा संभाला। उन्होंने कहा कि टेररिस्तान बन चुके पाकिस्तान में आतंकवाद का कारोबार फल-फूल रहा है और वैश्विक स्तर पर फैल रहा है। गंभीर ने कहा कि पाक (पवित्र) जमीन हासिल करने की चाहत में पाकिस्तान आतंक की धरती है  बन गया है। अपने छोटे से इतिहास में पाकिस्तान आतंकवाद का पर्याय बन गया है। हमला तेज करते हुए एनम ने कहा कि यह अद्भुत बात है कि जिस देश ने ओसामा बिन लादेन और मुल्ला उमर को शरण दी, वह खुद को पीड़ित के तौर पर पेश करने का साहस रखता है।

कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान पर हमला करते हुए एनम ने कहा कि पड़ोसी मुल्क को समझा चाहिए कि जम्मू-कश्मीर राज्य हमेशा भारत का अभिन्न अंग रहेगा। पाकिस्तान भले ही सीमा पर से आतंकवाद को जितनी भी हवा दे, लेकिन उसकी भारत के क्षेत्रीय अखंडता को कमतर करने की कोशिश कामयाब नहीं होगी। पाकिस्तानी जमीन पर पनप रहे आतंकवाद को लेकर एनम ने कहा, ‘जिस पाकिस्तान में आतंकवादी खुलेआम सड़क पर बेहिचक टहलते हैं, उस देश को हमने भारत में मानवाधिकारों की हिमायत करते सुना है।’ भारत की ओर से एनम ने कहा, ‘दुनिया को लोकतंत्र और मानवाधिकारों पर ऐसे देश से सीखने की जरूरत नहीं, जिसके खुद के हालात की व्याख्या नाकाम देश (Failed State) के तौर पर होती है।’ एनम ने कहा कि दरअसल पाकिस्तान एक ऐसा ‘टेररिस्तान’ है, जिसका आतंकवाद के वैश्वीकरण में अतुलनीय योगदान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *