राफेल: राहुल के आरोपों पर जेटली की काउंटर फायरिंग

नई दिल्ली. 23 सिंतबर 2018
राफेल डील सत्ता-विपक्ष के बीच सियासी लड़ाई में बन गई है। फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ओलांद के बयान रिलायंस डीफेंस को भारत सरकार के सुझाव पर डील में शामिल किया गया है… से बयानी वार तेज हो गया है। जहां राहुल गांधी प्रधानमंत्री पर बयानी हमले तेज कर दिए हैं। वहीं सरकार की ओर से वित्तमंत्री अरूण जेटली ने मोर्चा संभाला है। जेटली ने दो टूक शब्दों में कह दिया है न कोई घोटाला है न डील रद‌्द होगी।
राफेल डील में कथित घोटाले के आरोप के चलते सत्ता-विपक्ष आमने-सामने है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर राहुल गांधी ने हमला तेज कर दिया है। प्रतिक्रिया ट‌्वीटर, ब्लॉग पर आ रही हैं। पीएम की खामोशी के बीच विवाद में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने फेसबुक मोर्चा संभाला है, राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए जेटली ने लिखा है कि ओलांद के बयान परस्पर विरोधी हैं। ओलांद के बयान और राहुल गांधी के ट्वीट योजनाबद्ध तरीके से सामने आए हैं। वित्त मंत्री का इशारा ओलांद के बयान और राहुल के ट्वीट में एक कनेक्शन होने की ओर है।
जेटली ने दो टूक शब्दों में कहा है कि राफेल डील रद्द नहीं की जाएगी। पीएम की खामोशी पर जेटली ने अपने अंदाज में लिखा है – जिन्हें बोलना है वे बोल रहे हैं। आरोपों पर पीएम के हिस्सा लेने का कोई मतलब नहीं है।
ओलांद के दो बयान
पहला बयान : राफेल डील में ऑफसेट पार्टनर के रूप में रिलायंस के नाम का सुझाव भारत सरकार ने दिया था। हमारे पास दूसरा कोई ऑप्शन नहीं था।
दूसरा बयान : राफेल डील में ऑफसेट पार्टन के रूप में रिलायंस के चयन पर दसॉ कंपनी ही कुछ बता पाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *