एससी-एसटी एक्टः भारत बंद या सियासत

नई दिल्लीः 02 अप्रैल 2018
एससी-एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के विरोध में दलित संगठनों ने भारत बंद का आह्वान किया है. भारत बंद को कई राजनीतिक पार्टियों और कई संगठनों ने समर्थन भी दिया है. संगठनों की मांग है कि अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 में संशोधन को वापस लेकर एक्ट को पहले की तरह लागू किया जाए. दलित संगठनों के विरोध का सबसे अधिक असर पंजाब में देखने को मिला, जिसकी वजह से राज्य के सभी शिक्षण संस्थान, सार्वजनिक परिवहन को आज बंद रखा गया है. इस वजह से राज्य में आज होने वाले सीबीएसई के बोर्ड के पेपर रद्द कर दिए हैं. भारत बंद का असर कई राज्‍यों में देखने को मिल रहा है. बाजार बंद है तो प्रदर्शनकारियों ने रेल सेवा को सबसे ज्‍यादा प्रभावित किया है. इतना ही नहीं कहीं-कहीं पर प्रदर्शनकारी हिंसक हो गए है. वाहनों की तोड़फोड़ और आगजनी की घटनाएं सामने आईं हैं. हिंसा की घटनाएं पंजाब, राजस्‍थान, झारखंड, उत्‍तर-प्रदेश और मध्‍यप्रदेश तक पहुंच चुकी हैं.

  • भारत बंद अपडेट
  • एससी-एसटी एक्ट में बदलाव‘भारत बंद’
  • मप्र : मुरैना गोली चली, एक युवक की मौत
  • यूपी से बंगाल तक दलितों के उग्र प्रदर्शन
  • देश के कई हिस्सों में, तोड़फोड़ आगजनी
  • भोपाल के एमपी नगर में दलितों को बंद
  • महाराणा प्रताप नगर व अन्य क्षेत्रों में बाजार बंद कराए गए
  • सुप्रीम कोर्ट के फैसले से सरकार सहमत नहींः रविशंकर
  • कोर्ट में सरकार ने पुनर्विचार याचिका दायर की

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *