अाईएएस-आईपीएस के बीच विवाद भारत-पाक जैसा:सीएम

share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

भोपाल 20 अप्रैल 2018

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में ऐसे कई अफसर है, जिनमें ड्यूटी को पूरी करने का जुनून है जो टास्क को पूरा करने के लिए जूझ जाते हैं।
सिविल सर्विस डे पर आयोजित कार्यशाला में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रशासन अकादमी में यह बात कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि अंग्रेजों से पहले समाज में सिविल सर्विस किसी न किसी रूप में मौजूद थी। सरकारें नीति बनाती हैं और अफसर नीतियों का क्रियान्वयन सुनिश्चित करते हैं। सीएम ने कहा कि मेरे कुछ साथी कहते थे कि 24 घंटे बिजली असंभव है, लेकिन सबके प्रयासों से 24 घंटे बिजली देना संभव हो सका। सीएम ने यह भी कहा कि आईएएस, आईपीएस और आईएफएस तीनों केडर अफसर अच्छा काम कर रहे हैं। परन्तु कुछ कमियों को अभी भी दूर करना होगा। मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि कन्या विवाह योजना को पहले अफसरों ने नकार दिया, लेकिन बाद में अफसरों ने ही योजना को बेहतर बनाया।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने सिविल सर्विसेज डे पर ऑफिसर्स के बीच के विवाद की तुलना भारत-पाकिस्तान से की। सीएम ने कहा कि आईएएस, आईपीएस अफसरों के अंदर ईगो बहुत है। मुझे ये देखकर तकलीफ होती है… अफसर इसे दूर करें और जनता के लिए काम करें।
मुख्यमंत्री ने आगे भी कहा कि अधिकारियों को अपने आपसी मतभेद और ईगो दूर करके जनता की भलाई में काम करना चाहिए। सीएम सिविल सर्विसेज डे परप्रप्रदेश के आईएएस, आईपीएस और आईएफएस अफसरों से बात कर रहे थे। सीएम ने कहा कि अफसरों में आपसी गुटबाजी बहुत है।…. इसे दूर करना होगा। कभी-कभी लगता है कि वह भारत-पाकिस्तान की तरह व्यवहार कर रहे हैं। सीएम ने अधिकारियों को आपसी गुटबाजी छोड़ टीम भावना की तरह काम करने की सलाह दी और कहा कि वह जनता से जुड़ें। उनकी नाराजगी दूर करें।

हालांकि, सीएम कुछ योजनाओं को लेकर किए गए बेहतर काम के लिए अधिकारियों की तारीफ भी की। सीएम की नसीहत पर प्रदेश के मुख्य सचिव बीपी सिंह ने कहा कि अधिकारियों के बीच किसी भी बात को लेकर कोई मतभेद या विवाद नहीं है। सभी अधिकारी मिल-जुलकर काम करते हैं।
कार्यशाला में दिनभर कई सत्र हुए, जिसमें स्वच्छता अभियान, साइबर क्राइम और जागरूकता, सुशासन, ई-आफिस, वनों में वृद्धि के साथ प्रदेश में समृद्धि पर सत्र हुए।

  • बीडीसी न्यूज

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *