ब्रह्म समागम में सरकार को चेतावनी

share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

भोपाल। 01 april 2018

ब्राह्मण समाज अब तुष्टिकरण की राजनीति नहीं सहेगा। आरक्षण का आधार आर्थिक नहीं जातीय होना चाहिए। पदोन्नति में आरक्षण को लेकर सरकार अपनी नीति को बदले, नहीं तो परिणाम अच्छे नहीं होंगे।

यह चेतावनी संर्पूण ब्राह्मण समाज मध्यप्रदेश के ब्रह्म समागम में वक्ताओं ने सरकार को दी। टीटी नगर दशहरा मैदान पर आयोजित समागम की शुरूआत गणेश पूजन और सुंदरकांड पाठ के साथ हुई।समागम में पहुंचे सभी लोगों का स्वागत तिलक लगाकर किया गया। जय-जय परशुराम के घोष के साथ सवर्णों के अधिकारों की लड़ाई का शंखनाद किया गया।

रिटायर्ड आईएएस अधिकारी हीरालाल त्रिवेदी ने कहा आरक्षण को लेकर लड़ाई किसी जाति, वर्ग के खिलाफ नहीं, बल्कि व्यवस्था के खिलाफ है। सरकार को कमजोरों को सशक्त बनाने के लिए संरक्षण देना चाहिए, लेकिन आधार आर्थिक होना चाहिए। इग्नू के पूर्व निदेशक केएस तिवारी ने कहा कि समाज को विषमता के खिलाफ खड़ा होने के लिए मौका मिला है, यह दर्द होना चाहिए कि ब्राह्मण के साथ अन्याय हुआ है, जो सम्मान उन्हें मिलना चाहिए नहीं मिला। किसान नेता शिवकुमार शर्मा ने कहा कि समाजिक मंच का राजनीतिकरण नहीं होना चाहिए। सर्वर्णों की लड़ाई के लिए राजनीति से परे हटकर सभी को एक मंच पर आना चाहिए। महिला सरपंच भक्ति शर्मा ने युवा पीढ़ी को ब्रहम शिक्षा से जोड़ने पर जोर दिया।

समागम के अंत में आयोजक धर्मेन्द्र शर्मा का समाज के लोगों ने स्वागत किया। कार्यक्रम का संचालन राम बाबू शर्मा ने किया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *