प्रीति सुसाइट मामलाः बहू मानने से रामपाल का इनकार

share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

भोपाल। 19 मार्च 2018
प्रीति की आत्महत्या मामले मीडिया से बच रहे प्रदेश के कानून मंत्री रामपाल सिंह ने प्रीति को बहू मानने से इंकार कर दिया है। रामपाल का कहना है कि आत्महत्या मामले की जांच चल रही है। प्रीति की मौत से वह दुःखी और मृतका के परिवार वालों के साथ हैं। अंतिम संस्कार में वह जाना चाहते थे, लेकिन दूर होने की वजह से नहीं पहुंच पाए।
दो दिनों से मीडिया का सामने करने से बच रहे प्रदेश के कानून मंत्री रामपाल सिंह ने सोमवार शाम को अपने बंगले पर मीडिया से बात की। रामपाल सिंह ने बताया कि प्रीति की आर्य समाज मंदिर से शादी की बात उन्हें बाद में पता चली है। ….प्रीति किसी की बेटी-बहू है। आत्महत्या से वह दुःखी हैं और उसके परिवार वालों के साथ हैं। मीडिया के प्रश्नों पर रामपाल ने प्रीति को बहु मानने से इंकार किया और कहा कि इसकी पड़ताल चल रही है। प्रीति के अंतिम संस्कार में वह जाने वाले थे लेकिन दूर होने की वजह से नहीं पहुंच सके। प्रीति को आत्महत्या के लिए उकसाने के सवाल के जवाब में रामपाल ने कहा कि पुलिस जांच कर ही है। ….. विपक्ष को इसमें राजनीति नहीं करना चाहिए।
गौरतलब है कि उदयपुरा निवासी प्रीति रघुवंशी ने पिछले दिनों फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। प्रीति ने कानून मंत्री रामपाल सिंह के मझले बेटे गिरजेश से भोपाल के आर्य समाज के मंदिर में पिछले साल शादी की थी और वह गिरजेश की एक अन्य लड़की से सगाई को लेकर दुःखी थीं।

कांग्रेस ने पूछा सवाल

उदयपुरा निवासी प्रीति प्रजापति की आत्महत्या के मामले में कांग्रेस ने मंत्री पुत्र गिरजेश और मंत्री रामपाल सिंह के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग की है। …. कांग्रेस ने चेतावनी दी कि यदि दो दिन में पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया तो कांग्रेस सीएम हाउस का घेराव करेगी। वहीं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष पीड़ित परिवार से मिलने जाएंगे। कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा ने आरोप लगाया कि सरकार के दबाव में पुलिस आरोपी को बचाने में जुटी है।
मंत्री रामपाल सिंह की कथित बहू की आत्महत्या मामले में कांग्रेस ने मामला दर्ज करने की मांग करते हुए कहा है कि यदि जल्द कार्रवाई नहीं हुई तो कांग्रेस सीएम हाउस का घेराव करेगी। कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता केके मिश्रा ने आरोप लगाया कि घटना के पहले गिरजेश सिंह मृतका प्रीति प्रजापति के साथ था। उसने युवती से शादी के नाम पर धोखाधड़ी की है…. इसी तरह पूरे मामले की जानकारी होने के बाद भी मंत्री ने उसका साथ दिया… लिहाजा दोनों के िलाफ मामला दर्ज किया जाना चाहिए। कांग्रेस ने कहा कि मामले को लेकर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अरूण यादव और नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह जल्द ही पीड़ित परिवार से मिलने जाएंगे। कांग्रेस ने चेतावनी दी है कि यदि जल्द पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो कांग्रेस सीएम हाउस का घेराव करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *