गैस पीड़ित कहेंगे भाजपा को वोट मत दो

share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

भोपाल। 15 फरवरी 2018
पांच गैस पीड़ित संगठनों ने मुंगावली और कोलारस उपचुनाव में जाकर बीजेपी को वोट मत दो कहने का ऐलान किया है। यह घोषणा रशीदा बी भोपाल गैस पीड़ित स्टेशनरी कर्मचारी संघ, बालकृष्णा नामदेव भोपाल गैस पीड़ित निराधित पेंशनभोगी संघर्ष मोर्चा ,नवाब खां भोपाल गैस पीड़ित महिला पुरुष संघर्ष मोर्चा, रचना डी़ंगरा और सतीष नाथ पडंगी भोपाल ग्रुप फॅार इन्फार्मेंशन एंड एक्शन और सरिता मामलवीय डाव-कार्बाइड के खिलाफ एक संयुक्त प्रेस कान्फेंस में की।
गैस पीड़ित संगठनों के नेताओ ने कहा की वो इन दोनों चुनाव क्षेत्रां के मतदाताआें के बीच जागरुकता कार्यक्रम चलायेंगे। मतदाताओं को गैस पीड़ितों से किए गए झूठे वादों हकीकत बताई जाएगी। भाजपा राजनेताओं के विश्वासघात के सबूत के तौर पर गैस पीड़ित संगठन मतदाताओं के समक्ष सरकारी दस्तावेज पेश करेंगे।
भोपाल गैस पीड़ित स्टेशनरी कर्मचारी संघ की रशीदा बी ने कहा कि भोपाल गैस पीड़ितों के लंबित मसले आगामी विधान सभा और लोकसभा के मुद्दे बने। इस दिशा में इन उपचुनाव में भागीदारी हमारा पहला कदम है। रशीदा बी ने आगे कहा की इन दोनो उपचुनाव में भाजपा की हार सुनिश्चित करने में हम निर्णायक भूमिका निभाएंगी।
उपचुनावों में गैस पीड़ित संगठनों की रणनीति पर बात करते हुए भोपाल गैस पीड़ित निरश्रित पेंशनभोगी संघर्ष मोर्चा के बालकृष्णा नामदेव ने कहा कि इन उपचुनावों में भाजपा का सारा चुनाव प्रचार मुख्यमंत्री के घोषणाओं पर टिका है और हमारी यह कोशिश होगी कि हम मुआवजे के मुद्दे पर भोपाल के छह लाख गैस पीड़ितों को पिछले सात सालों में मुख्यमंत्री के व्दारा दिये गए झूठे वादों की हकीकत ज्यादा से ज्यादा मतदाताओं तक पहुंचाएँ।
भोपाल गैस पीड़ित महिला पुरुष संघर्ष मार्चा के नवाब खां ने कहा की सरकारी दस्तावेजों में गैस पीड़ितों को मुआवजा देने के सम्बन्ध में किये गए लिखित वादों के आधार पर ही मुहिम चलाएंगे। मुंगावली और कोलारस के मतदाताओं के सामने सरकारी दस्तावेज रख, मुख्यमंत्री की घोषणाओं के खोखलेपन को उजागर करेंगे। भोपाल ग्रुप फॅार इन्फॅर्मेशन एण्ड एक्शन के सतीनाथ षड़ंगी ने कहा की भोपाल के गैस पीड़ित संगठन किसी राजनैतिक दल से नही जुड़ेगे और प्रचार साधनों के लिये आम जनता से मदद मांगेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *