महर्षि पतंजलि संस्थान का 8 करोड़ का नवीन भवन बनेगा

share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

भोपाल :27 जुलाई , 2017 dpr

स्कूल ‍शिक्षा मंत्री कुंवर विजय शाह ने कहा है कि प्रदेश में संस्कृत भाषा के विकास के लिये राज्य सरकार द्वारा निरंतर प्रभावी प्रयास किये जाते रहेंगे। उन्होंने कहा कि संस्कृत भाषा के जरिये रोजगार के अवसर बढ़ाने की दिशा में भी लगातार कार्य किये जाते रहेंगे। मंत्री कुंवर विजय शाह आज भोपाल में महर्षि पंतजलि संस्कृत संस्थान की वेबसाइट का लोकार्पण कर रहे थे। स्कूल शिक्षा मंत्री ने राज्य ओपन स्कूल के मोबाइल एप का भी लोकार्पण किया। कार्यक्रम में आयुक्त लोक शिक्षण संचालनालय श्री नीरज दुबे भी मौजूद थे।

मंत्री कुंवर विजय शाह ने कहा कि भोपाल में महर्षि पतंजलि संस्कृत संस्थान का 8 करोड़ 38 लाख रुपये का नवीन भवन बनाया जायेगा। इसमें लड़कियों के लिये छात्रावास और ऑडिटोरियम भी रहेगा। स्कूल शिक्षा मंत्री ने कहा कि संस्थान की वेबसाइट बनने से जन-सामान्य को सुलभ तरीके से संस्कृत के क्षेत्र में किये जा रहे प्रयासों और गतिविधियों की जानकारी मिलेगी। स्कूल शिक्षा मंत्री ने बताया कि संस्कृत पाठ्य-पुस्तकों को तैयार करने के लिये प्रदेशभर में 300 से अधिक कार्यशालाएँ आयोजित की जा चुकी हैं। राज्य में 5 आदर्श संस्कृत विद्यालय सिरोंज, दतिया, उज्जैन, बुरहानपुर एवं कटनी जिले के बरही में कार्यशील हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पहली बार संस्कृत संस्थान की पूर्व मध्यमा कक्षा-10 और उत्तर मध्यमा कक्षा-12वीं की बोर्ड परीक्षा की प्रावीण्य-सूची में प्रथम 10 स्थान प्राप्त विद्यार्थियों को प्रोत्साहन राशि दी गयी है।

स्कूल शिक्षा मंत्री ने बताया कि संस्कृत विद्यालयों की अधोसंरचना में सुधार के लिये चयनित विद्यालय को 50-50 लाख रुपये की राशि उपलब्ध करवायी जा रही है। संस्थान की परीक्षाओं को पारदर्शी बनाने के लिये डिजिटल मूल्यांकन पद्ध‍ति प्रारंभ की गयी है। संस्कृत को लोकप्रिय बनाने के लिये संस्कृत नाटक एवं नृत्य नाटिकाओं की प्रस्तुतियाँ जन-सामान्य के बीच प्रस्तुत की गयी हैं। मंत्री कुंवर शाह ने संस्थान से संबद्ध विद्यालयों का वार्षिक शैक्षिक कैलेण्डर भी जारी किया।

मोबाइल एप का लोकार्पण

स्कूल शिक्षा मंत्री कुंवर शाह ने मध्यप्रदेश राज्य ओपन स्कूल के मोबाइल एप mpsos का लोकार्पण किया। राज्य ओपन स्कूल द्वारा परीक्षार्थी के आवेदन-पत्र भरने से लेकर उन्हें अंक-सूची और माइग्रेशन प्रदान करने की सभी प्रकियाएँ ऑनलाइन की जा रही हैं। उत्तर-पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य भी ऑन-स्क्रीन कम्प्यूटर और माउस के माध्यम से किया जा रहा है। आधुनिक तकनीक अपनाने से परीक्षा परिणाम कम समय में घोषित हो सका है।

संचालक राज्य मुक्त स्कूल शिक्षा परिषद श्री पी.आर. तिवारी ने बताया कि एप को प्ले स्टोर पर जाकर mpsos टाइप कर नि:शुल्क डाउनलोड किया जा सकता है। यह एप केवल 8 के.व्ही. का है और इसे 15 सेकेण्ड में डाउनलोड किया जा सकता है। एप के माध्यम से छात्र विभिन्न संस्थाओं की मान्यता, प्रवेश के नियम, शुल्क, परीक्षा फल आदि की जानकारी मोबाइल से ही ले सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *