विधायक से उलझे मीना शाम तक नप गए

हमने भूमिपूजन कर दिया, आप चले जाइए..

भोपाल। 08 जुलाई 2018
कोलार में पार्षद के हुजूर पर हुजूर विधायक के साथ विवाद पैदा करना महंगा पड़ा। भाजपा ने पार्षद पति को प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित कर दिया है। श्याम सिंह मीना-रामेश्वर शर्मा विवाद नया नहीं है, बहुत कुछ घट चुका है। पार्षद पति को आपत्ति थी, विकास किसी भी निधि से हो विधायकजी नारियल क्यों फोड़ते हैं। मामले में पार्टी विधायक के साथ खड़ी है।

कोलार के वार्ड 83 में सुबह विधायक रामेश्वर शर्मा, सांसद आलोक संजर के साथ भूमिपूजन करने पहुंचे थे। विधायक के आने की सूचना होने से पहले से श्याम सिंह मीना अपनी पार्षद पत्नी और समर्थकों के साथ रास्ता रोकने खड़े थे। विधायक गाड़ी आते ही भाजपा जिंदाबाद के नारे लगने शुरू हो गए। विधायक-सांसद के साथ नीचे उतरे और अभिवादन स्वीकार किया। लेकिन इसके बाद जो हुआ उसका वीडियो शनिवार को दिनभर चर्चा में रहा। पार्षद पति ने कहा, सड़का का काम पार्षद निधि से हो रहा है, हम भूमिपूजन कर चुके हैं आप चले जाइए। विधायक ने गांव में तो जाने दो… मीना ने गांव का दूसरा रास्ता दिखाया। यहीं से बात बिगड़ गई विधायक और पार्षद पति में तूं-तूं, मैं-मैं शुरू हो गई। नौबत हाथापाई तक पहुंच गई।

सांसद नहीं होते तो हाथापाई भी हो जाती। इसके बाद कोलार में विकास कार्यों के लिए श्रेय की सियासत के नारियल फूटे। शाम होते-होते भाजपा से खबर आ गई। प्रदेश के कार्यालय मंत्री सत्येन्द्र भूषण सिंह ने मीना पर कार्रवाई करते हुए पार्टी से बाहर कर दिया। ऐसा नहीं दोनों नेताओं के बीच विवाद पहली बार हुआ हो.. जो भी हो चुनावी साल में इस तरह की घटनाएं पार्टी के लिए अच्छी नहीं है।

स्रोत : बीडीसी न्यूज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *